शाबास कल्पना हमें तुम पर नाज़ है

ऊँची उड़ान के लिए बड़े पंखों की नहीं बल्कि परवाज़ के बड़े हौसले की जरूरत होती है. और इसे साबित कर दिखाया है बिहार के अत्यंत ही छोटे और संभवत: सबसे नये जिले शिवहर की कल्पना ने. मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा NEET-2018 में संपूर्ण भारत में प्रथम स्थान प्राप्त कर कल्पना ने न सिर्फ अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया बल्कि ये साबित कर दिखाया कि प्रतिभा कभी भी किसी भी चीज़ का मोहताज नहीं होती। 

NEET_2018_Topper_Kalpana

शिवहर जिले के तरियानी प्रखण्ड निवासी श्री राकेश मिश्रा की सुपुत्री कल्पना नवोदय विद्यालय, शिवहर की छात्रा रही हैं। कल्पना के पिता श्री राकेश मिश्रा, राजकीय बुनियादी विद्यालय में शिक्षक रह चुके हैं और फिलहाल डायट में कार्यरत हैं। कुल 720 अंकों वाली NEET परीक्षा में कल्पना ने 691 अंक प्राप्त किए और ये कीर्तिमान कायम कर दिया। NEET-2018 के परिणाम घोषित होने के दो दिनों बाद ही बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के 12वीं के परिणाम भी घोषित हुये और इसमें भी कल्पना ने 86.6% अंक प्राप्त कर पूरे प्रदेश में अव्वल स्थान प्राप्त किया। 
आज बिहार ही नहीं पूरे देश को इस बेटी की शानदार उपलब्धि पर नाज़ है। सारा देश इसकी प्रतिभा को सलाम कर रहा है। आइये हम और आप भी इस होनहार बेटी कल्पना पर नाज़ करें, उसे सलाम करें।  

1 टिप्पणी: